Text Version            
   

हमें 1-800-115-432 पर संपर्क करें - आज ही

 
 
 
FAQ
रिवर्स मॉर्टगेज लोन (विपरीत बंधक ऋण) क्या है ?
किस प्रकार रिवर्स मॉर्टगेज ऋण अन्य बंधक ऋणों से भिन्न है ?
रिवर्स मॉर्टगेज ऋण के क्या लाभ हैं ?
रिवर्स मॉर्टगेज ऋण का लाभ उठाने के लिए ग्राह्यता मानदंड क्या हैं ?
क्या किसी रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण के उद्देश्य से 'स्थायी प्राथमिक निवास' की कोई परिभाषा है ?
क्या किसी रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण का लाभ किसी ऐसी संपत्ति के लिए उठाया जा सकता है, जिसका वाणिज्यिक उपयोग हो रहा है ?
रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण के अधीन किसी मकान मालिक को कितना धन मिल सकता है ?
मकान का मूल्य कौन अवधारित करेगा ?
क्या रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण के किसी उधारकर्ता को मिलने वाले मासिक/एकमुश्त भुगतान की राशि की अधिकतम सीमा है ?
क्या रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण के अधीन किसी उधारकर्ता द्वारा प्राप्त किये गये भुगतान पर आयकर लगता है ?
क्या किसी रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण पर पूंजी अभिलाभ कर लगेगा ?
किसी रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण के अधीन कोई उधारकर्ता धन किस प्रकार प्राप्त करता है ?
किसी रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण से संबद्ध लागतें क्या-क्या हैं ?
किसी रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण के ब्याज की दर क्या होगी ?
किसी रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण की अवधि कितनी होगी ?
ऋणदाता के लिए प्रतिभूति क्या होगी ?
एक रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण कब पुनर्भुगतान के लिए देय हो जाता है ?
कोई भी रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण कैसे चुकाया जाता है ?
क्या होता है, यदि ऋणदाता को संदेय कुल देय राशियां (अर्थात् मूलधन + संचित ब्याज) अंतिम परिनिर्धारण के समय संपत्ति के मूल्य से अधिक हो जाती हैं ?
क्या है, यदि उधारकर्ता ऋण की अवधि से अधिक समय तक जीवित रहता है ?
क्या गृह स्वामी किसी रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण का पूर्वभुगतान कर सकता है ?
संपत्ति के रख-रखाव और करों इत्यादि के भुगतान के लिए कौन ज़िम्मेदार होगा ?
किसी रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण के अधीन चूक की विभिन्न घटनाएं कौन-कौन सी हैं ?
क्या किसी उधारकर्ता द्वारा रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण का लाभ उठाया जाने के बाद संपत्ति का पुनर्मूल्यांकन किया जाएगा ?
क्या यह योजना गृह स्वामी को प्रलेखन पूरा हो जाने के बाद भी किसी ऋणदाता से ऋण लेने की अनुमति देती है ?
क्या होगा, यदि उधारकर्ता को ऋण की राशि पहले ही संवितरित की जा चुकी है ?
क्या होगा, यदि संभावित उधारकर्ता मकान पर मौजूदा बंधक रखता है ?
क्या होगा, यदि उधारकर्ता अपनी पत्नी/अपने पति से पहले मर जाता है ?
यदि उधारकर्ता ऋण की पराकाष्ठा पर पहुंचने से पहले मर जाता है, तब रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण के भुगतान का क्या होता है ?
यदि संपत्ति पति और पत्नी, दोनों के नाम में है, तब क्या कोई पत्नी अपने पति की मृत्यु के बाद ऋण पा सकती है ?
रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण के अधीन ऋण की अवधि 20 वर्ष है । यदि उधारकर्ता 20 वर्ष की अवधि से अधिक जीवित रहता है, तब क्या वह रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण की योजना के अधीन ऋण प्राप्त करता रहेगा ?
क्या रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण योजना केवल शहरी क्षेत्रों के लिए है अथवा क्या यह अर्धशहरी अथवा ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले वरिष्ठ नागरिकों के लिए भी है ?
रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) योजना में शब्द 'विपरीत बंधक' (रिवर्स मॉर्टगेज) का प्रयोग क्यों किया जाता है ?
क्या ऋणदाता अभिकरणों की ओर से उद्ग्रहीत मूल्यांकन प्रभार बहुत अधिक हैं ?
विभिन्न बैंक रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋणों पर ब्याज की अलग-अलग दर प्रभारित कर रहे हैं ? ब्याज की दर एक समान की जानी चाहिए ?
यदि किसी वरिष्ठ नागरिक के पास पहले से ऋण बकाया है, क्या वह पहले के ऋण को चुकाने के लिए रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण ले सकता है ?
क्या ऋण पर ब्याज की दर स्थिर अथवा अस्थिर होती है ?
क्या किसी उधारकर्ता को समान मासिक किस्त देनी पड़ती है ?
क्या किसी संपत्ति का मुख्तारनामा धारक व्यक्ति ऋण के लिए ग्राह्य होगा ?
क्या ऋण के लिए आवेदन करने से पूर्व, वैध वारिस से कोई अनुज्ञा आवश्यक है ? क्या संपत्ति वरिष्ठ नागरिक के नाम में है ?
मकान मेरी मां के नाम में था । उसने यह मेरे नाम अंतरित कर दिया । मेरे पास सभी कागज़ात हैं । क्या मुझे ऋण मिल सकता है ?
संपत्ति पत्नी के नाम में है । क्या पति ऋण ले सकता है ?
क्या रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण योजना के अधीन प्राप्त राशि कर योग्य है ?
क्या रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण का लाभ उठाने से पूर्व संपत्ति के स्वामित्व की कोई न्यूनतम अवधि होती है ?
क्या किसी सहकारी आवास समिति में कोई संपत्ति रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण योजना के अधीन ग्राह्य होती है ?
क्या ऋण चुकाया जा सकता है और हक विलेख वापस लिए जा सकते हैं ?
 
 
 
 
 
रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण क्या होता है ?
 

रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण राष्ट्रीय आवास बैंक द्वारा विकसित की गई एक योजना वरिष्ठ नागरिकों (60 वर्ष से अधिक की आयु के व्यक्तियों) की सहायता के लिए है जिसमें वरिष्ठ नागरिक अपने मकान का स्वामी और उसे कब्ज़ाधीन रखते हुए अपने मकान को बंधक रखकर किसी ऋणदाता से आवधिक भुगतान का लाभ उठा सकता है । उधारकर्ताओं के लिए अपने जीवनकाल में ऋण के शोधन की ज़रूरत नहीं है और इसलिए ऋणदाता को मूलधन और ब्याज का मासिक भुगतान नहीं करते हैं ।

रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण अनुसूचित बैंकों, आवास वित्त कंपनियों, जैसे प्राथमिक ऋणदाता संस्थानों द्वारा दिया जाता है ।

 
 
 
 
एक रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण किस प्रकार अन्य बंधक ऋणों से भिन्न होता है ?
 
  परम्परागत बंधक (आवास ऋण) रिहायशी संपत्ति के मुकाबले (गृह इक्विटी ऋण) रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण
ऋण का उद्देश्य

मकान खरीदना/उसका उन्नयन करना

बहुत से व्यक्तिगत उद्देश्यों के लिए किसी रिहायशी आस्ति से नकदी प्राप्त करना गृह सुधार मरम्मत एवं व्यक्तिगत उद्देश्यों सहित बहुत से उद्देश्यों के लिए किसी रिहायशी आस्ति से नकदी प्राप्त करना
ग्राह्य उधारकर्तागण उधारकर्ता की विश्वसनीय साख ऐसे साखदार उधारकर्तागण, जिनके पास मकान का स्पष्ट हक है ऐसे वरिष्ठ नागरिक जिनके पास उस मकान का स्पष्ट हक है, जहां वे स्थायी रूप से रहते हैं
प्रारम्भ होने के समय पर उधारकर्ता की मकान में कोई साम्या पूंजी (इक्विटी) नहीं है उधारकर्ता की मकान में पर्याप्त साम्या पूंजी (इक्विटी) है उधारकर्ता के पास पर्याप्त साम्या पूंजी (इक्विटी) है
ऋण की अवधि के दौरान उधारकर्ता-
  • ऋणदाता को मासिक पुनर्भुगतान करता है
  • ऋण की शेष राशि कम होने लगती है
  • उधारकर्ता की साम्या पूंजी (इक्विटी) बढ़ती है
  • ऋणदाता को मासिक पुनर्भुगतान करता है
  • ऋण की शेष राशि कम होने लगती है
  • उधारकर्ता की साम्या पूंजी (इक्विटी) बढ़ती है
  • ऋणदाता से भुगतान प्राप्त करता है
  • ऋण की शेष राशि बढ़ती है
  • साम्या पूंजी (इक्विटी) घटती है
ऋण के अंत में उधारकर्ता-
  • ऋणदाता को कुछ नहीं देता है
  • उसकी साम्या पूंजी (इक्विटी) पर्याप्त होती है
  • ऋणदाता को कुछ नहीं देता है
  • उसकी साम्या पूंजी (इक्विटी) पर्याप्त होती है
  • ऋणदाता को पर्याप्त राशि का देनदार होता है
  • बहुत कम अथवा शून्य साम्या पूंजी (इक्विटी) रखता है
पुनर्भुगतान का साधन मासिक (ऋण की अवधि में) मासिक (ऋण की अवधि में)
  • उधारकता की मृत्यु पर अथवा मकान छोड़ने पर ऋण की देय राशि को परिनिर्धारित करने के लिए आवासीय संपत्ति का विक्रय प्रतिफल
  • मूलधन एवं संचित ब्याज का एकमुश्त भुगतान
  • उधारकर्ता/वारिसों के पास संपत्ति को बेचे बिना ऋण की देय राशि को परिनिर्धारित करने अथवा पूर्व भुगतान करने का विकल्प है
नो निगेटिव इक्विटी गारंटी उपलब्ध नहीं उपलब्ध नहीं रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण के साथ विशिष्ट रूप से नो निगेटिव इक्विटी गारंटी होती है, यानि रिहायशी संपत्ति की बिक्री से बकाया ऋण पूरा नहीं होता है, तब उधारकर्ता अथवा संपदा की कमी, यदि कोई है, को पूरी करने के लिए स्वीकृत नियम एवं शर्तों के अध्यधीन नहीं कहा जाएगा
 
 
 
 
रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण के क्या-क्या लाभ होते हैं ?
 

मुख्य लाभ निम्नलिखित हैं :-

आय अनुपूरक : इससे अपर्याप्त आय वाले गृह स्वामी वरिष्ठ नागरिक मकान की मरम्मत/अभिनवकरण के लिए और चिकित्सा तथा अन्य व्यक्तिगत उद्देश्यों से संबंधित वित्तीय ज़रूरतें पूरी कर सकते हैं ।

स्वामित्व रोके रखना : उधारकर्ता मकान का स्वामी बना रहता है ।

सामाजिक सुरक्षा : वरिष्ठ नागरिक के लिए सामाजिक सुरक्षा के अभाव में, रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण एक आंशिक स्थानापन्न का काम करता है ।

कोई पुनर्भुगतान नहीं : उधारकर्ता को अपने जीवनकाल में अथवा उसके मकान में रहने के समय तक रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण चुकाना नहीं पड़ता है ।

आज़ादी और लचीलापन : रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) के अधीन लिए गए ऋण का उपयोग शेयरों में भू संपदा में, व्यापार इत्यादि में निवेश करने के अतिरिक्त अन्य किसी भी उद्देश्य से किया जा सकता है ।

 
 
 
 
एक रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण का लाभ उठाने के लिए ग्राह्यता मानदंड क्या हैं ?
 
ग्राह्यता मानदंड यथा निम्न प्रकार से हैं :-
 
60 वर्ष की आयु का भारतीय नागरिक ।
विवाहित युगल (जोड़ा) संयुक्त सहायता के लिए संयुक्त उधारकर्ताओं के रूप में ग्राह्य होंगे । ऐसे मामलों में युगल के लिए आयु संबंधी मानदंड रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋणदाता के विवेक पर इस बात के अध्यधीन होगा कि उनमें से एक 60 वर्ष से अधिक और दूसरा कम से कम 55 वर्ष की आयु से कम नहीं होना चाहिए ।
भारत में अवस्थिति किसी रिहायशी संपत्ति (मकान अथवा फ्लैट) का स्वामी होना/होनी चाहिए और उसके पास संपत्ति का स्वामित्व संभावित उधारकर्ता के नाम से स्पष्ट हक विलेख होना चाहिए ।
रिहायशी संपत्ति किसी प्रकार के ऋण भार से मुक्त होनी चाहिए ।
संपत्ति का अवशिष्ट जीवन कम से कम 20 वर्ष होना चाहिए ।
संभावित उधारकर्ता(ओं) को उस रिहायशी संपत्ति का उपयोग स्थायी प्राथमिक निवास के रूप में करना चाहिए ।
 
 
 
 
क्या किसी रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण के उद्देश्यार्थ स्थायी प्राथमिक निवास की कोई परिभाषा है ?
 
रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण योजना के उद्देश्यार्थ, स्थायी प्राथमिक निवास स्वत: अर्जित, स्वत: कब्ज़ाधीन रिहायशी प्राथमिक स्थायी निवास को निर्दिष्ट करता है, जहां कोई व्यक्ति अपना अधिकांश समय व्यतीत करता है । इस बारे में भी कारक सुसंगत हो सकते हैं, उनमें सामान्य पत्राचार के लिए प्रयुक्त पता, उपयोगी बिल, बैंक विवरण, कर विवरणियां, बैंक खाता एवं बैंककारी संबंध इत्यादि हैं । तथापि, तथ्यों पर तथा परिस्थितियों पर यह अवधारित करने के लिए विचार किया जाएगा कि आवासीय संपत्ति उधारकर्ता का स्थायी प्राथमिक निवास है ।
 
 
 
 
क्या वाणिज्यिक संपत्ति के रूप में प्रयोग की जा रही किसी संपत्ति के मुकाबले रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण का लाभ उठाया जा सकता है ?
 
नहीं, वाणिज्यिक संपत्ति रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण के लिए ग्राह्य नहीं है ।
 
 
 
 
किसी रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण के अधीन कोई मकान मालिक कितनी धन राशि प्राप्त कर सकता है ?
 
इस योजना के अधीन उपलब्ध ऋण की राशि उधारकर्ता की आयु, मकान का मूल्यांकित मूल्य और ऋणदाता संस्थान की प्रचलित ब्याज दरों पर निर्भर करती है ।
 
 
 
 
मकान का मूल्य कौन अवधारित करेगा ?
 
मकान का मूल्य ऋणदाता द्वारा अवधारित किया जाना है, जो इस प्रयोजनार्थ आंतरिक तकनीकी कार्मिकों और बाह्य विशेषज्ञों का इस्तेमाल कर सकता है ।
 
 
 
 
क्या किसी रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण के उधारकर्ता द्वारा प्राप्त किए जाने वाली मासिक/एकमुश्त भुगतान की राशि की कोई अधिकतम सीमा है ?
 
हां, रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण के अधीन अधिकतम मासिक भुगतान की राशि 50,000/-रुपए पर निर्धारित की गई है । अधिकतम एकमुश्त भुगतान, ऋण की कुल ग्राह्य राशि के 50% तक प्रतिबंधित होगा । यह राशि अधिकतम 15 लाख रुपए तक हो सकती है और इसका उपयोग स्वयं के पति/पत्नी और आश्तों, यदि कोई है, की चिकित्सा के लिए किया जाएगा । ऋण की शेष राशि आवधिक भुगतान के लिए ग्राह्य होगी ।
 
 
 
 
क्या रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण के अधीन उधारकर्ता को मिली राशि पर आयकर देना पड़ेगा ?
 
इस योजना के अधीन सभी भुगतान आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 10(43) के अधीन करमुक्त होंगे ।
 
 
 
 
क्या रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण पूंजी अभिलाभ कर के अध्यधीन होगा ?
 
किसी भी रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) के किसी लेनदेन में किसी पूंजीगत आस्ति के किसी अंतरण को अंतरण नहीं माना जाएगा । रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) योजना के अधीन कोई भी उधारकर्ता (पूंजी अभिलाभ की प्रकृति में) आयकर का भागी, बंधकदार द्वारा ऋण की वसूली के लिए बंधक रखी संपत्ति के अन्य संक्रामण के समय होगा ।
 
 
 
 
रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण योजना के अधीन कोई उधारकर्ता धन कैसे प्राप्त करता है ?
 
मकान मालिक अथवा ऋणदाता द्वारा परस्पर विनिश्चित किए गए किसी एक अथवा कई साधनों से :-
 
आवधिक (मासिक, त्रैमासिक, अर्धवार्षिक, वार्षिक) भुगतान ।
एकमुश्त भुगतान ।
प्रतिबद्ध आर्थिक सहायता : परस्पर स्वीकृत नियम एवं शर्तों के अधीन, आहरित किए जाने और यथा आवश्यक उधारकर्ता द्वारा उपयोग की जाने के लिए उसे (उधारकर्ता को) ऋणदाता द्वारा मंज़ूर की गई ऋण की ग्राह्य राशि । उधारकर्ता ब्याज केवल तभी देता है, जब और जैसे ही और ऋण की आहरित राशि पर यह लागू होता है ।
 
 
 
 
रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण का लाभ उठाने से संबद्ध कौन-कौन सी लागते हैं ?
 
अन्य ऋणों की भांति, ऋणदाता बहुत से प्रभार, जैसे कि प्रवर्तन शुल्क, मूल्यांकन शुल्क, निर्धारण शुल्क, प्रलेखन शुल्क और अनाहरित ऋण राशियों पर प्रतिबद्धता शुल्क, उद्ग्रहीत कर सकता है । राष्ट्रीय आवास बैंक ने सभी ऋणदाताओं से कहा है कि सभी प्रभारों का विवरण पहले ही संभावित उधारकर्ताओं को पारदर्शी ढंग से बता दिया जाना चाहिए । ऐसे प्रभारों की पहले ही उधारकर्ताओं को पहले से नहीं बताई जा रहीं घटनाएं अंतिम पृष्ठ पर दिए गए राष्ट्रीय आवास बैंक के कार्यालयों में उसके नोटिस में लाई जा सकती हैं ।
 
 
 
 
रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण के ब्याज की दर क्या होगी ?
 
ब्याज की दर और ब्याज की प्रकृति (स्थिर अथवा अस्थिर) ऋणदाता द्वारा विनिश्चित की जाएगी ।
 
 
 
 
रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण की अवधि कितनी होगी ?
 
इस ऋण की अधिकतम अवधि 20 वर्ष होगी ।
 
 
 
 
ऋणदाता की प्रतिभूति क्या होगी ?
 
मकान उस ऋणदाता के पास बंधक रखा जाएगा, जिससे रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण का लाभ उठाया गया है ।
 
 
 
 
रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण पुनर्भुगतान के लिए कब देय हो जाता है ?
 
कोई भी रिवर्स मॉर्टगेज ऋण उस समय देय और संदेय होगा जब अंतिम उत्तरजीवित उधारकर्ता मर जाता है । तथापि, ऋण व्यतिक्रम (चूक) की कतिपय घटना घटने पर पुरोबंध का भागी हो सकता है ।
 
 
 
 
किसी रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण का पुनर्भुगतान कैसे किया जाता है ?
 
रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण बंधक रखी गई आवासीय संपत्ति की बिक्री से प्राप्त प्रतिफल से परिनिर्धारित किया जाएगा । अंतिम रूप से परिनिर्धारित किया जाने के बाद शेष रही राशि (यदि कोई है) उधारकर्ता को अथवा उसके वारिसों/हिताधिकारियों को दे दी जाएगी । तथापि, उधारकर्ता अथवा उसके वारिस संपत्ति को बेचे बिना अन्य स्रोतों से ऋण का पुनर्भुगतान कर सकते हैं ।
 
 
 
 
क्या होता है, यदि उधारकर्ता को संदेय कुल देय राशियां (अर्थात् मूलधन + संचित ब्याज) अंतिम परिनिर्धारण के समय संपत्ति के मूल्य से अधिक हो जाती हैं ?
 
सभी रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋणों के साथ एक 'नो निगेटिव इक्विटी' अथवा 'नॉन-रिकोर्स' गारंटी होती है । दूसरे शब्दों में, उधारकर्ता कभी भी संपत्ति के निवल वसूलीयोग्य मूल्य से अधिक का देनदार नहीं होगा, बशर्ते कि ऋण के नियम एवं शर्तें पूरी की गई हैं ।
 
 
 
 
क्या होगा यदि उधारकर्ता ऋण की अवधि के बाद भी जीवित रहता है ?
 
उधारकर्ता संपत्ति का स्वामी रहता है और जब तक संपत्ति यथा प्राथमिक निवास उपयोग में लाई जाती है, तब उसे अपने जीवनकाल में ऋण के शोधन की ज़रूरत नहीं है । रिवर्स मॉर्टगेज विपरीत बंधक ऋण के अधीन आवधिक भुगतान ऋण की अवधि के बाद समाप्त हो जाएगा । ब्याज पुनर्भुगतान तक प्रोद्भूत होता रहेगा । उधारकर्ता की मृत्यु अथवा उसके स्थायी रूप से घर छोड़ने पर ऋण बंधक रखी गई संपत्ति की बिक्री के प्रतिफल से चुकाया जाएगा ।
 
 
 
 
क्या मकान मालिक रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण का पूर्वभुगतान कर सकता है ?
 
हां, कोई भी मकान मालिक ऋण की अवधि के दौरान किसी भी समय ऋणदाता से लिए गए रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण का पूर्व भुगतान कर सकता है । राष्ट्रीय आवास बैंक ने कोई पूर्वभुगतान उद्ग्रहण /प्रभार उद्ग्रहीत नहीं करने के लिए सभी रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋणदाताओं को सूचित किया है ।
 
 
 
 
कर आदि के भुगतान के लिए और संपत्ति के रख-रखाव के लिए कौन ज़िम्मेदार होगा ?
 
उधारकर्ता सभी प्राकृतिक आपदाओं के लिए मकान का बीमा कराएगा । उधारकर्ता ही मकान से संबंधित सभी करों, विद्युत प्रभारों, जल प्रभारों का भुगतान करने और अन्य सांविधिक भुगतानों को भी सुनिश्चित करेगा । उधारकर्ता मकान को उत्तम स्थिति में रखेगा ।
 
 
 
 
रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण के अधीन व्यतिक्रम (चूक) की विभिन्न घटनाएं कौन-कौन सी हैं ?
 
रिवर्स मॉर्टगेज ऋण (विपरीत बंधक) ऋण निम्नलिखित घटनाओं के घटने पर पुरोबंध का भागी होगा :-
 
उधारकर्ता संपत्ति में लगातार एक वर्ष तक नहीं रहा है ।
यदि उधारकर्ता संपत्ति कर का भुगतान करने में अथवा आवासीय संपत्ति को रखने, उसकी मरम्मत करने में विफल रहता है अथवा घर का बीमा कराने में विफल रहता है, तब प्राथमिक ऋणदाता संस्थान के पास रिहायशी संपत्ति को बेचने और मूलधन तथा ब्याज की बकाया राशि पूरी करने के लिए प्रतिफल का उपयोग करने का अधिकार सुरक्षित रहता है ।
यदि उधारकर्ता दिवालिया घोषित कर देता है ।
यदि प्राथमिक ऋणदाता के पास इस प्रकार से बंधक रखी गई रिहायशी संपत्ति दान में दे दी जाती है अथवा उधारकर्ता उसे छोड़ देता है ।
यदि उधारकर्ता रिहायशी संपत्ति में ऐसे परिवर्तन करता है, जो ऋणदाता के लिए ऋण की प्रतिभूति को प्रभावित करते हैं । उदाहरणार्थ, पूरे मकान को अथवा उसके किसी भाग को किराए पर उठाना, संपत्ति के हक विलेख में कोई नया स्वामी जोड़ना, संपत्ति का ज़ोनिंग वर्गीकरण परिवर्तित करना अथवा संपत्ति के लिए नया कर्ज़ लेकर और किसी उपहार अथवा वसीयत के हित के अन्य संक्रमण के ज़रिए और ऋण भार से ग्रस्त करना ।
उधारकर्ता द्वारा धोखाधड़ी और मिथ्या प्रस्तुतीकरण के कारण ।
यदि सरकार, सांविधिक उपबंधों के अधीन सार्वजनिक उपयोग के लिए रिहायशी संपत्ति को अधिग्रहीत करना चाहती है ।
यदि सरकार रिहायशी संपत्ति को (स्वास्थ्य अथवा सुरक्षा के कारणों से) ज़ब्त कर लेती है ।
 
 
 
 
क्या किसी उधारकर्ता द्वारा रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण लेने के बाद भी संपत्ति को पुनर्मूल्यांकित किया जाएगा ?
 
ऋणदाता उसके पास बंधक रखी गई संपत्ति को ऐसे अंतराल पर पुनर्मूल्यांकित करेगा जो कि संपत्ति की अवस्थिति, वास्तविक हालत इत्यादि पर निर्भर करते हुए, नियत किए जाएंगे । राष्ट्रीय आवास बैंक ने कहा है कि ऐसा पुनर्मूल्यांकन प्रत्येक पांच वर्ष में कम से कम एक बार किया जा सकता है और ऋणदाता के विवेक से ऐसे पुनर्मूल्यांकन के अधार पर ऋण की प्रमात्रा में संशोधन हो सकता है । पुनर्मूल्यांकन की बारम्बारता ऋण मंज़ूरी के समय संभावित उधारकर्ता(ओं) को बता दी जाएगी ।
 
 
 
 
क्या यह योजना मकान मालिक को प्रलेखन पूरा हो जाने के बाद भी ऋण का लाभ उठाने की अनुमति देती है ?
 
राष्ट्रीय आवास बैंक ने ऋणदाताओं को कहा है कि वरिष्ठ नागरिकों को लेनदेन रद्द करने के लिए तीन व्यापार दिवस दिए जा सकते हैं, इससे उन्हें मंसूखी (निरसन) के अधिकार का प्रयोग करने का समय मिल जाता है, यदि वे अपना मन बदलते हैं ।
 
 
 
 
क्या होता है यदि ऋण की राशि पहले से ही उधारकर्ता को संवितरित की जा चुकी है ?
 
यदि ऋण की राशि संवितरित कर दी गई है, तब संपूर्ण राशि उधारकर्ता को तीन दिन की अनुबद्ध अवधि के भीतर चुकानी होगी । तथापि, यह ऋणदाता का विवेक होगा कि वह उस अवधि के लिए ब्याज प्रभारित करता है अथवा नहीं ।
 
 
 
 
क्या होता है यदि संभावित उधारकर्ता के पास मकान का वर्तमान बंधक होता है ?
 
उधारकर्ता रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण के लिए योग्य हो सकता है, यदि वह वर्तमान बंधक पर अभी देनदार है । तथापि, रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) एक प्रथम पुनर्ग्रहणाधिकार की स्थिति में होना चाहिए, अत: कोई भी वर्तमान बंधक चुकाना पड़ेगा ।
 
 
 
 
क्या होता है यदि उधारकर्ता अपनी पत्नी/अपने पति से पहले मर जाता/जाती है ?
 
सामान्य रूप से, रिहायशी संपत्ति का स्वामी और उसकी पत्नी/उसका पति किसी रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण में संयुक्त उधारकर्तागण हैं । किसी एक उधारकर्ता (कहें कि स्वामी) की मृत्यु की स्थिति में अन्य (अर्थात. पति/पत्नी) जीवित रहने तक मकान में रह सकता/सकती है ।
 
 
 
 
रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण के भुगतान का क्या होता है, यदि उधारकर्ता ऋण की पराकाष्ठा से पूर्व मर जाता है ?
 

भुगतान उसके पति/पत्नी द्वारा किया जाता रहेगा, जिन्हें रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण के प्रवर्तन के समय सह-उधारकर्ता बनाया गया होगा ।

 
 
 
 
यदि संपत्ति पति/पत्नी, दोनों के नाम में है, तब क्या पत्नी अपने पति की मृत्यु के बाद ऋण प्राप्त कर सकती है ?
 
हां ।
 
 
 
 
रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण के अधीन ऋण की अवधि 20 वर्ष है । यदि उधारकर्ता 20 वर्ष की अवधि के बाद भी जीवित रहता है, तब क्या वह इस योजना के अधीन ऋण लेता रहेगा ?
 
नहीं । इस समय भुगतान की अधिकतम अवधि 20 वर्ष है । तथापि, उधारकर्ता ऋणदाता के पास बंधक रखे मकान में रह सकता है ।
 
 
 
 
क्या रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण योजना केवल शहरी क्षेत्रों के लिए है अथवा यह अर्धशहरी अथवा ग्रामीण क्षेत्रों में रह रहे वरिष्ठ नागरिकों के लिए भी है ?
 
योजना ग्रामीण क्षेत्रों सहित संपूर्ण देश के लिए है । संपत्ति बंधक रखने योग्य होनी चाहिए । कुछ ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि भूमि बंधक नहीं रखी जा सकती है और इसलिए रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण पर विचार ऐसी कृषि भूमि पर निर्मित मकान के लिए नहीं किया जा सकता है ।
 
 
 
 
रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) योजना में "रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक)" शब्द का प्रयोग क्यों किया गया है ?
 
परम्परागत बंधकगत ऋणों के मामलों में, उधारकर्ता मासिक पुनर्भुगतान (समान मासिक किस्त) ऋण की अवधि के दौरान ऋणदाता को करता है अर्थात् नकदी का प्रवाह उधारकर्ता की ओर से ऋणदाता की ओर होता है । दूसरी ओर, रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) के किसी भी मामले में नकदी का प्रवाह उल्टा है और ऋणदाता रिहायशी संपत्ति के बंधक के मुकाबले रिवर्स मॉर्टगेज ऋण की अवधि के दौरान उधारकर्ता को आवधिक भुगतान करता है । अत: "रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) शब्द का प्रयोग किया है ।
 
 
 
 
क्या ऋणदाता अभिकरणों द्वारा उद्ग्रहीत मूल्यांकन प्रभार बहुत अधिक हैं ?
 
इस प्रश्न को विनिश्चित करना ऋणदाता संस्थानों के लिए है । तथापि, ऐसे सभी प्रभारों को संभाव्य उधारकर्ता के सामने पहले ही प्रकट कर दिया जाना चाहिए ।
 
 
 
 
रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋणों पर विभिन्न बैंक ब्याज की विभिन्न दरें प्रभारित कर रहे हैं । क्या ब्याज की दर एक समान बनाई जानी चाहिए ?
 
ब्याज की दर बाज़ार की स्थितियों से अवधारित की जाती है । अत: प्रत्येक ऋणदाता स्वयं अपनी नीति के अनुसार उधार देने की दर अवधारित करेगा ।
 
 
 
 
यदि किसी वरिष्ठ नागरिक के पास पहले से ही बकाया ऋण है, तब क्या वह पहले ऋण के चुकाने के लिए इस योजना के अधीन एक ऋण का और लाभ उठा सकता है ?
 
इस समय चिकित्सीय तात्कालिक आवश्यकता के लिए केवल 15 लाख रुपए की अधिकतम राशि के अध्यधीन ग्राह्य राशि के 50% तक एकमुश्त भुगतान किया जा सकता है ।
 
 
 
 
क्या ऋण पर ब्याज की दर स्थिर अथवा अस्थिर होती है ?
 
प्रत्येक ऋणदाता संस्थान अपनी नीति के अनुसार ऋण देता है और उधारकर्ता विनिश्चित कर सकता है कि क्या ऋण स्थिर दर अथवा अस्थिर दर पर लेना है जो संबंधित शर्तों पर निर्भर करेगा ।
 
 
 
 
क्या किसी उधारकर्ता को समान मासिक किस्तों का भुगतान करना पड़ता है ?
 
नहीं ।
 
 
 
 
क्या किसी संपत्ति का मुख्तारनामाधारक ऋण के लिए ग्राह्य होगा ?
 
नहीं । संपत्ति स्वत: अर्जित, स्वयं के कब्ज़ाधीन और उधारकर्ता के पक्ष में स्पष्ट हक रखने वाली होनी चाहिए ।
 
 
 
 
क्या ऋण के लिए आवेदन करने से पूर्व वैध वारिस से कोई अनुज्ञा आवश्यक है ? क्या संपत्ति वरिष्ठ नागरिकों के नाम है ?
 
ऋण से पूर्व वैध वारिस से कोई अनुज्ञा आवश्यक नहीं है ।
 
 
 
 
मकान मेरी मां के नाम में था । उसने यह मेरे नाम अंतरित कर दिया । मेरे पास सभी कागज़ात हैं । क्या मुझे ऋण मिल सकता है ?
 
सामान्यतया नहीं, क्योंकि यह स्वत: अर्जित नहीं है । तथापि, संपत्ति के हक पर निर्भर करते हुए ऋण देने के लिए विचार ऋणदाता के विवेक पर किया जा सकता है ।
 
 
 
 
संपत्ति मेरी पत्नी के नाम है । क्या पति ऋण ले सकता है ?
 
ऋण पत्नी और पति दोनों को दिया जाने के लिए वे सह-उधारकर्ता हो सकते हैं ।
 
 
 
 
क्या रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) के अधीन प्राप्त राशि कर-योग्य है ?
 
जैसा कि 2008-2009 के केन्द्रीय बजट में संशोधित किया गया है, इस योजना के अधीन प्राप्त राशि कर-मुक्त है ।
 
 
 
 
क्या रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण का लाभ उठाने के लिए संपत्ति के स्वामित्व की कोई न्यूनतम अवधि होती है ?
 
नहीं । संपत्ति के स्वामित्व की कोई न्यूनतम अवधि अपेक्षित नहीं है ।
 
 
 
 
क्या किसी सहकारी आवास सोसायटी की संपत्ति रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण के लिए ग्राह्य होती है ?
 
हां । संपत्ति का स्पष्ट हक होना चाहिए और यह ऋणदाता के पास बंधक रखी जाने योग्य होनी चाहिए ।
 
 
 
 
क्या ऋण चुकाया और हक विलेख वापस लिया जा सकता है ?
 
हां । रिवर्स मॉर्टगेज (विपरीत बंधक) ऋण को ऋण की अवधि के दौरान किसी समय चुकाया जा सकता है । सभी देय राशियों का भुगतान किया जाने के बाद सभी विलेख ऋणदाता द्वारा लौटा दिए जाएंगे ।
 
© 2003 National Housing Bank